जगन्नाथ मंदिर बेहटा

दिशा

यह मंदिर भगवान जगन्नाथ का मंदिर है। यह मंदिर कानपुर जनपद के भीतरगांव विकासखंड मुख्यालय से तीन किलोमीटर पर बेंहटा गांव में स्थित है। ऐसा कहा जाता है कि इस मंदिर की खासियत यह है कि बरसात से 7 दिन पहले इसकी छत से बारिश की कुछ बूंदे अपने आप ही टपकने लगती हैं।

हालांकि इस रहस्य को जानने के लिए कई बार प्रयास हो चुके हैं पर तमाम सर्वेक्षणों के बाद भी मंदिर के निर्माण तथा रहस्य का सही समय पुरातत्व वैज्ञानिक पता नहीं लगा सके। बस इतना ही पता लग पाया कि मंदिर का अंतिम जीर्णोद्धार 11वीं सदी में हुआ था। उसके पहले कब और कितने जीर्णोद्धार हुए या इसका निर्माण किसने कराया जैसी जानकारियां आज भी अबूझ पहेली बनी हुई हैं, लेकिन बारिश की जानकारी पहले से लग जाने से किसानों को जरूर सहायता मिलती है।

फोटो गैलरी

  • बहता बुजुर्ग मंदिर प्राचीन परिसर
  • बहता बुजुर्ग मंदिर

कैसे पहुंचें:

बाय एयर

कानपुर चेकेरी में सबसे नजदीक हवाई अड्डा। स्थानीय वाहन शहर से कहीं भी उपलब्ध हैं

ट्रेन द्वारा

निकटतम रेलवे स्टेशन कानपुर सेंट्रल है। स्थानीय वाहन शहर से कहीं भी उपलब्ध हैं

सड़क के द्वारा

यह मंदिर कानपुर जिले के भटगांव ब्लॉक के मुख्यालय से तीन किलोमीटर दूर बेहता गांव में स्थित है।